अरसा हुआ…

Posted on

अरसा हुआ तुझे नज़रें चुराये,

बहरहाल, चाय के प्याले में तेरा ही अक्स है.

पर

मयस्सर नहीं अब हमसे आंखें चार करना,

ना तेरे इंतज़ार में आज ये शख्स है.

Its been a while since then. You do invade my dreams, but not my soul. Anymore.

रास्ता

Posted on

माना, उस दोराहे पर हम दोनों बँट गए,

पर जितना साथ काटा, वो रास्ता हसीन था

Mana uss dorahe par hum dono bat gaye,

Par, jitna saath kaata, vo raasta haseen tha.

Parting ways is not always filled with pain if we understand the WHYs and WHY NOTs behind it.